Pushpa Singh

Pushpa Singh

6 Hits Pushpa Singh Feb 23, 2024, 5:53 AM
भारतेन्दु युग के पश्चात द्विवेदी युग का प्रारम्भ हुआ। इस युग की अवधि भारतेन्दु युग की अपेक्षा कम, मात्र 20 वर्ष रही।
Read More
4 Hits Pushpa Singh Feb 23, 2024, 5:52 AM
भारतेन्दु युग हिंदी कविता का जागरण काल है। इस युग को हिंदी साहित्य का प्रवेश द्वार माना जाता है।
Read More
6 Hits Pushpa Singh Feb 18, 2024, 2:51 PM
'जीवनी' तथा 'आत्मकथा' गद्य की प्रमुख विधाएँ है। किसी व्यक्ति द्वारा दूसरे व्यक्ति के जीवनवृत्त को रोचक साहित्यिक ढंग...
Read More
7 Hits Pushpa Singh Feb 18, 2024, 2:49 PM
कहानी वास्तविक जीवन की ऐसी काल्पनिक कथा है जो छोटी होते हुए भी स्वतः पूर्ण और सुसंगठित होती है कहानी...
Read More
5 Hits Pushpa Singh Feb 17, 2024, 2:55 PM
नाटक एक प्रमुख दृश्य काव्य है। यह एक ऐसी अभिनयपरक विधा है, जिसमे सम्पूर्ण मानव जीवन का रोचक वर्णन होता...
Read More
3 Hits Pushpa Singh Feb 17, 2024, 2:54 PM
संस्मरण जीवनी विशेष रूप है। इसमें लेखक अपने के विशेष प्रसंगो और अनुभवों का उल्लेख करता है। जीवन की मर्मस्पर्शी स्मृतियों के आधार पर प्रभावशाली भाषा का लेखन ही संस्मरण है।
Read More
4 Hits Pushpa Singh Feb 17, 2024, 2:53 PM
स्वतंत्र भारत के प्रथम विधि एवं न्याय मंत्री भीमराव आंबेडकर का जन्म १४ अप्रैल, 1891 में मध्य प्रदेश में स्थित...
Read More
7 Hits Pushpa Singh Feb 17, 2024, 6:45 AM
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी का जन्म श्रावण शुक्ल एकदशी संवत 1964 तदनुसार 19 अगस्त, 1907 ई. को उत्तर प्रदेश के...
Read More
5 Hits Pushpa Singh Feb 17, 2024, 6:44 AM
हिंदी साहित्य में आंचलिकता विधा को जन्म देने वाले, कलम के जादूगर फणीश्वर नाथ रेणु का जन्म 4 मार्च, 1921...
Read More
5 Hits Pushpa Singh Feb 17, 2024, 6:43 AM
छायावादी युग के चार प्रमुख स्तम्भों में से एक एवं आधुनिक युग की मीरा के नाम से विख्यात महादेवी वर्मा...
Read More